Vikram Misri : 1989 बैच के 59 वर्षीय डिप्लोमैट होंगे भारत के नए विदेश सचिव। उन्हें चीन मामलों का एक्सपर्ट माना जाता है ?

Share with the world

1989 बैच के 59 वर्षीय डिप्लोमैट Vikram Misri, भारत के नए विदेश सचिव के रूप में तैनात होंगे। उनको चीन मामलों का एक्सपर्ट माना जाता है  1964 में कश्मीर  में जन्मे विक्रम मिश्री ने अपना करियर भारतीय विदेश सेवा में शुरू किया। वह शुरू में ब्रसेल्स और ट्यूनिस में भारतीय डिप्लोमैट रहे ।

Vikram Misri,
Vikram Misri,

भारत सरकार ने शुक्रवार को घोषणा किया राष्ट्रीय सुरक्षा पर्षद सचिवालय के उपराष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (Deputy National Security Advisor of India) विक्रम मिश्री अगले विदेश सचिव के रूप में विनय मोहन क्वात्रा की जगह लेंगे। 28 जून को विक्रम मिश्री भारत का अगला विदेश सचिव बनाया गया। 1989 बैच के भारतीय विदेश सेवा (IFS) अधिकारी मिश्री 15 जुलाई से वर्तमान विनय क्वात्रा की जगह लेंगे।

विक्रम मिश्री  ने 2019-2021 तक चीन में भारत के राजदूत के रूप में काम किया है उसके बाद वह डिप्टी एनएसए (Deputy NSA ) बनाये गए। उन्होंने नरेंद्र मोदी, मनमोहन सिंह और इंदर कुमार गुजराल के निजी सचिव के रूप में भी काम किया है।

चाइना विशेषज्ञ Vikram Misri  ?

विक्रम मिश्री की नियुक्ति उस समय की है जब भारत को विदेश नीति में कई चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है, जिसमें ईस्टर्न लद्दाख सीमा विवाद भी शामिल है। मिश्री को उनकी चीन में विशेषज्ञता के लिए जाना जाता है।

Also Read : Khalid Al Ameri : बॉलीवुड फैन और दुबई -भारत के संबंधों के सेतु , सगाई की तस्वीर viral ?

उन्होंने अपनी अंतिम राजदूती भूमिका बीजिंग में जनवरी 2019 से दिसम्बर 2021 तक संभाली थी, उसी समय इंडियन और चीनी सैनिको के बिच गलवान में संघर्ष हुआ था। उनको  विदेश मंत्रालय (MEA) में चीन के मामलों को संभालने वाले प्रमुख अधिकारियों में से एक माना जाता है  59 वर्षीय मिश्री को 2020 के ईस्टर्न लद्दाख स्टैंडऑफ के बाद और बाद में गलवान घाटी संघर्ष के बाद भी भारत और चीन के बीच बातचीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने का अनुमान है।

Vikram Misri का  करियर और शिक्षा ,

विक्रम मिश्री का जन्म 7 नवंबर 1964 को श्रीनगर में हुआ था। उन्होंने हिंदू कॉलेज, दिल्ली विश्वविद्यालय से इतिहास में स्नातक डिग्री प्राप्त की और बाद में एक्सएलआरआई, जमशेदपुर से एमबीए की। ग्वालियर में अपनी प्रारंभिक शिक्षा पूरी की।

1989 में मिश्री ने भारतीय विदेश सेवा में अपना राजनीतिक करियर शुरू किया। उन्होंने शुरू में ब्रसेल्स और ट्यूनिस में भारतीय मिशनों में काम किया अपने शानदार  करियर के दौरान, मिश्री ने स्पेन (2014-2016) और म्यांमार (2016-2018) में भारत के राजदूत के रूप में भी काम किया. उन्होंने पाकिस्तान, अमेरिका, जर्मनी, बेल्जियम और श्रीलंका में भी भारतीय डिप्लोमैट रहे है  ।

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *